अगर सुबह उठते ही करते हैं ये 4 काम तो दरिद्रता आने से कोई रोक नहीं सकता

दरिद्रता से बचने के उपाय : दोस्तो ऐसा कहा गया है की हमारे द्वारा किये गए कर्म ही हमें सफल या असफल बनाते है, तो हम कैसे सफल होंगे कैसे हम अमीर व्यक्ति बन सकते हैं ये तो हमें अक्सर ही बताया जाता है लेकिन इससे कही ज्यादा हमें ध्यान देना होगा की हम ऐसा क्या ना करें जिससे की हम दरिद्रता से कोसों दूर रह सके क्यूंकि इंसान अमीर या धनि न हो तो चलेगा पर दरिद्र बिलकुल नहीं होना चाहिए।

तो आज हम आपको ऐसे चार बातें बताने जा रहें है जो की आपको सुबह उठने के पश्चात् बिलकुल भी नहीं करनी है। अगर आपमें इनमे से कोई एक भी लक्षण है तो आपको दरिद्र होने से कोई नहीं बचा सकता। इसीलिए अभी से अपनी इन आदतों को सुधार लेना ही आपके लिए बेहतर होगा।

सुबह उठते ही आईना देखना

सुबह उठते ही आईना देखना दरिद्रता
सुबह उठते ही आईना देखना

दोस्तों अगर आप भी उन लोगो में से जो की सुबह होते ही आईना / शीशा देखते या फिर उठते ही मोबाइल के कैमरे में अपना चेहरा देखते हो तो आपको यह आदत तुरंत बदल देनी चाहिए। क्यूंकि ऐसा करके आप शत प्रतिशत दरिद्रता को आमंत्रण दे रहे हो। इसकी जगह आप या तो अपने मोबाइल में किसी भगवान, देवी देवता या किसी इष्ट की तस्वीर लगा कर रख सकते हो। या फिर अपने कमरे में ही अपने इष्ट की तस्वीर रख सकते हो जिन्हे आप अपने आँख खुलने के समय देख सको। और अगर आप शादी शुदा और बच्चे वाले हो तो आप होने बेटा या बेटी का चेहरा देख कर अपने दिन की शुरुवात कर सकते हो।

ALSO READ  45+ भोलेनाथ फोटो। Bholenath Images। देवों के देव महादेव की तस्वीर

सुबह उठते ही खाना खाना से आती है दरिद्रता

सुबह उठते ही खाना खाना से आती है दरिद्रता

आज के समय हम जैसे जैसे मॉडर्न होते जा रहे हैं वैसे वैसे हम अपनी पहचान खो रहे हैं। ग्रंधो में भी लिखा है की सुबह उठते ही बिना नहाये धोये पूजा पाठ किये बगैर खाना नहीं खाना चाहिए इससे दरिद्रता का वास् होता है। लेकिन क्यूंकि की आज की इस फ़ास्ट दुनिया में कुछ चीजें पॉसिबल नहीं हो पाती है। हममें से अधिकतर लोग तो बिना बेड टी के बिस्तर से बहार भी कदम नहीं रखते हैं। लेकिन कम से कम सुबह उठने के पश्चात् सुबह के दैनिक कार्य जैसे शौच जाना, ब्रश करना, नहाना, भगवान का नाम लेना आदि करने के बाद ही चाय आदि सेवन करें, अगर नहाना और पूजा करना मुमकिन न हो तो कम से कम अच्छे से हाथ मुँह धो कर ऊपर वाले के नाम से दिन की शुरुवात करें।

संकेत जिनसे हो जाओ सावधान, आ सकती है बड़ी विपत्ति 

कभी भी ब्रह्म मुहूर्त में स्त्री पुरुष का संग नहीं करना चाहिए

जो भी शादी शुदा भाई बहन है यह बात खास तौर पर सिर्फ उनके लिए है की ब्रह्म मुहूर्त (यही सुबह 4 बजे से लेकर सूर्य उगने तक का समय) में पति पत्नी, स्त्री पुरुष को कभी भी सम्भोग नहीं करना चाहिए। ऐसा करना साक्षात् दरिद्रता को आमंत्रण देना है। इससे सावधानी रखनी चाहिए क्यूंकि हिंदू मान्यताओं में ब्रह्म मुहूर्त को सबसे अच्छा समय माना जाता है। इसलिए कहा जाता है कि इस मुहूर्त में जगने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का भी वास होता है। ब्रह्म मुहूर्त से दिन की शुरुवात करने से पूरा दिन अच्छा जाता है और सभी कार्य समय पर हो जाते हैं। ऐसे में सुबह सुबह संभोग आदि क्रिया करने से बहुत दूर रहना चाहिए।

ALSO READ  45+ भोलेनाथ फोटो। Bholenath Images। देवों के देव महादेव की तस्वीर

सुबह सुबह कभी कलेश नहीं करना चाहिए

जिन भी घरों में सुबह सुबह कलेश झगड़ा, गाली गलोच आदि होती है उन घरों में माँ लक्ष्मी कभी प्रवेश नहीं करती है। वहां हमेशा दरिद्रता का वास् होता है। ऐसे घरों के लोग भी चिड़े चिड़े और अकेले पन का शिकार रहते है। इसीलिए अगर घर में बार बार कलेश होता हो तो पुरे परिवार के साथ बैठ कर चर्चा करके उस कलेश की जड़ को समाप्तकर देना चाहिए। फिर भले ही अगर आपको उस जगह छोटा या गलत होना पड़े तो हो जाओ आखिर वो आपके परिवार वाले ही है। लेकिन बार बार कलेश होने से आपके और बच्चों पर भी बहुत बुरा असर पढता है। इससे जितना हो सके ख़त्म करें और बचें।

Leave a Comment